पैरो में पहननी बिछिया आपके पति को डुबाती है कर्ज, परेशानी में.

दोस्तों आज जिस चीज़ के बारे में हम बात करने जा रहे है वह खासकर महिलाओ के लिए बहुत ख़ास है. शगुन शास्त्र के अनुसार सोने एवं चांदी के गहने से जुडी कुछ बात हमे जानना बहुत जरूरी है. क्योकि सोना और चांदी दोनों ही हमे प्रिय होते है.

शगुन शास्त्र के अनुसार सोने का खोना या उसे कहि पाना दोनों ही अशुभ माना जाता है. अगर आपको रास्ते में गिरा सोने का गहना मिलता है तो यह न केवल आप पर बल्कि आपके पति पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है.

सोना को गुरु ग्रह से जोड़ा जाता है. इसलिए सोने का गुम होना या इसका मिलना गुरु ग्रह के प्रभाव को घटाता या बढ़ाता है.

दोस्तों गहने सभी को प्रिय होते है खासकर महिलाओ को तथा गुरु ग्रह भी महिलाओ को अधिकतर प्रभावित करता है. इसलिए दोस्तों आज हम आपको बता रहे है की आपके गहने किस तरह आपके जीवन को प्रभावित कर सकते है.

बिछिया हर सुहागन महिला को पहनना बहुत जरूरी होता है. परन्तु क्या आप जानते है की पाँव में बिछिया क्यों पहने जाते है. इसे श्रृंगार के अंतिम आभूषण के रूप में माना जाता है. दोनों पाँव के बिच में बिछिया पहननी की मान्यता है.

वास्तव में सारे श्रृंगार टिका और बिछिया के बिच के ही होते है. सोने की टिकिया और चांदी की बिछिया का भाव होता है. ये आत्मा का कारक सूर्य तथा मन का कारक चन्द्रमा दोनों की कृपा आप पर जीवन भर बरसे इसी कारण कहा जाता है

की मांग में सदैव सोने का टिका तथा पैर में सदैव चांदी का बिछिया होना चाहिए. सोने का बिछिया पैर में पहनना अपशगुन माना जाता है. इसके आलावा विज्ञान भी यह कहता है की चांदी की बिछिया पहनने से मानशिक शांति मिलती है.

अब यहां पर यह बात करना भी जरूरी होगा की बिछिया आपके कभी भी खोने नहीं चाहिए यानी गुम नहीं होने चाहिए. इसके साथ सुहागिन महिला जो पैर में बिछिया पहनती है उसे कभी भी उतारकर किसी दूसरी महिला को नहीं देने चाहिए.

ऐसा करने से आपके पति को स्वास्थ्य से संबंधित परेशानिया आने लगती है तथा वह कर्ज में डूबते रहते है. और कहि न कहि उन पर मानसिक तनाव का दबाव भी बढ़ने लगता है.

धन की जो भी आवक होती है वह रुकने लगती है क्योकि हमारे वेदो में साफ़ साफ़ कहा गया है घर की महिलाओ की ऐसी पायल या बिछिया पहननी चाहिए जिनमे से धीमी धीमी आवाज आये ताकि माता लक्ष्मी की कृपा उस घर में हो.

मानव जीवन में एक कॉमन समस्या की अगर बात करें तो वह है धन की कमी। जी हां धन की कमी के अभाव में न जाने कितने ही लोग अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। और इसी कमी की वजह से इंसान दूसरों से कर्ज ले लेता है। वैसे तो इंसान के जीवन मे किसी भी चीज का कर्ज अच्छा नहीं होता है।

कर्ज चाहे जिस भी चीज का हो जितनी जल्दी खत्म हो जाए उतना ही अच्छा है। इसे कभी भी बढ़ने नहीं देना चाहिए। लेकिन कुछ लोगों के जीवन में कर्ज इतना ज्यादा बढ़ जाता है की वह ठीक से रह भी नहीं पाते।

उनके जीवन से शांति लगभग जा चुकी होती है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है तो आज हम आपको कर्ज से मुक्ति के लिए गंगा जल का ऐसा उपाय बताने जा रहे हैं, जिसे करने के बाद कर्ज चाहे जितना ही बढ़ा क्यों न हो झट से उतर जाएगा।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

कर्ज़ से मुक्ति के लिए गंगा जल बहुत ही अच्छा उपाय है। इसके लिए पीतल के बर्तन में गंगा जल को भरकर अपने कमरे की उत्तर दिशा में रखे। ऐसा करने से सारे कर्ज़ से मुक्ति मिल सकती है।

गंगाजल की वजह से घर में सदेव सुख समृद्धि बनी रहती है। इसी वजह से हमेशा के लिए घर में गंगाजल को भरकर रखना अच्छा होता है। इसे सिर्फ मन्दिर में या कोई पवित्र जगह पर ही रखना अच्छा होता है।

शास्त्र के अनुसार गंगा जल को शिवजी पर रोज़ चढाने से धन प्राप्ति के योग बनते है और साथ ही पैसो की कमी भी दूर हो जाती है। वास्तु दोष होने पर घर में रोज़ गंगा जल का छिडकाव करते रहना चाहिए, जिससे वास्तुदोष बिलकुल खत्म हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *